कच्ची कविताएं By Rahul Shrivastava
Share:

Listens: 15.33k

About

कच्ची कविताएं !! जैसे कच्चा आम, कच्ची मिट्टी, कच्चे रास्ते ..जिनमे सुधार किया जा सकता है, कुछ बदलने की संभावनाएं रहती है । मेरी कविताएं भी कुछ ऐसी ही हैं जो पूर्ण नहीं है परिपक्व नहीं है। आप इनको सुनिए अच्छी लगे तो दुबारा सुनिए हर बार एक नया नजरिया मिलेगा।

संवाद

Sometimes we dint realise what's going on between two relation. Ignorance leads to distance between both. It's necessary to have open discussion to...

Show notes